Partial Lunar Eclipse 2021: Know about restrictions, effects on different Moon Signs

Partial Lunar Eclipse 2021 Know about restrictions, effects on different Moon Signs

This year’s first Partial Lunar Eclipse ( खग्रास चन्द्र ग्रहण) is going to take place in Scorpio sign and Anuradha/Jyeshtha nakshatra in the evening of 26 May, beginning from 15.15 PM, and this unique and rare celestial phenomenon will continue in the sky till 18.23 PM, Indian standard time.

This partial lunar eclipse will be visible eastern India, most of the countries in South Eastern Asia, Australia. Lunar eclipse has mythological as well as spiritual importance also in India.

Foreigners give utmost scientific importance to it. People in India take advantage of this opportune moment to attain ‘Mantra Siddhi’ as it is widely considered as a very auspicious ‘Muhurat’ to perform spiritual practices.

In some part of India, it is consider as an inauspicious period to go for journey for any special purpose from seven days prior to the eclipse. Eating food, attending the call of nature is also prohibited during the time span of eclipse happening in the sky.

Restrictions for eating anything and attending nature’s call will begin from 06.15 AM on 26 May.

It is term as “Sootak” ( सूतक ) in astrological terms. This time is perfect to perform special religious deeds, taking bath in holy rivers and lakes, giving alms to needy and poor people, reciting religious hymns and holy scriptures, recitation of ‘Mantra’s, ‘Mantra Siddhi’, meditation, performing ‘Yagna’, etc.

Religious people should collect things according to their Moon sign to give as alms to any Brahmin, as per their capacity to pacify adverse effects and/or ongoing Dasha period of unfavourable planets to invite affluence in life.

During the period of restriction and eclipse some actions are strictly prohibited as per ‘Shastra’ ( शास्त्र ). Like, touching the idols of God and Goddesses, eating and drinking, sleeping, sexual activities, cutting of nails and hair, applying oil on body, etc.

Aged people, infants, patients, pregnant women are exempted from these restrictions. Taking medicines is also allowed, in case of any disease and ailments.  

This lunar eclipse is happening on Wednesday, so, it will make sesame, oil, cotton and pulses costlier. Accumulating Betel-Nut, ghee, oil, red coloured items may give good profit.

On the other hand, elephants or horses may be affected by some or the other diseases.

In our ancient scriptures it has given utmost importance as it is taking place in the full Moon evening of Baishakh (बैशाख मास) month of Hindi calendar, when the Moon will be in Her debilitation sign Scorpio and in the constellation of Saturn/Mercury, Anuradha/Jyeshtha.

The effect of this partial lunar eclipse will be different for the natives of various Moon signs.

Aries Moon Sign

Aries Moon Sign People may get offer for friendship in their known circles. There might be financial gain of a significant amount to their surprise. Imagination and creativity will get a superb boost to increase their confidence level.

Giving anything of green colour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, may enhance positive results.

Taurus Moon Sign

Taurus Moon SignNatives are likely to experience difficulties with their partner or problem in partnership to let them feel dissatisfied and unhappy. In special cases, sudden gain or financially lucrative business proposal may appear in front of them.

Giving something of white colour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, will be helpful to increase assertive effects.

Gemini Moon Sign

Gemini Moon Sign People may experience disease or something to trouble their well-being and happiness might be less to make the scenario hectic. Any news may arrive to bring setback in their routine life.

Giving anything of green colour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, is advisable to reduce adverse incidents.

Cancer Moon Sign

Cancer Moon Sign Natives should remain cautious about their social reputation and sufferings due to a third person might be there. Stay well in control while interacting with near and dear ones to maintain peaceful atmosphere at home.

Give something of white colour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, to minimise negative impact of this partial lunar eclipse. 

Leo Moon Sign

Leo Moon Sign ​People might experience success in their ventures or some gainful opportunity may appear in front of them. Any pending task may get through to reduce struggles of them.

Giving anything made of copper metal as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, would be of proper help to appropriate situation and bring their peace of mind back.

Virgo Moon Sign

Virgo Moon Sign ​Natives are expected to enjoy gain of money as happiness and comfort of every kind may arrive to their disposal. They are going to experience something good about their prestige in the social arena.

Giving something of green colour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, is advisable to enhance the scenario for better.

Libra Moon Sign

Libra Moon Sign ​People may face financial loss as a result of this lunar eclipse and they may experience dip in their confidence as well. Struggling situation may emerge without notice at their professional front, to change the entire scenario there. Unforeseen or imaginary fear may grip their mind.

Giving anything of white colour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, is suggested to reduce the intensity of problems.

Scorpio Moon Sign

Scorpio Moon Sign ​Natives may get tensed with physical problems, just to reduce their comfort zone. Expected results of their sincere efforts in the past may get stuck to make their position vulnerable. Proper care should be exercised for wellbeing and safety of their kids.

Giving something of red colour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, is advisable to minimise the adverse effects.

Sagittarius Moon Sign

Sagittarius Moon Sign​

People are advised to stay alert about their enemies or competitors while starting any ventures of big magnitude. Below average profit might be there for them to accumulate less. Expenditures might rise up as a result of this eclipse.

Giving anything made of yellow metal as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, is suggested to normalise the situation and feel better.

Capricorn Moon Sign

Capricorn Moon Sign​Natives are about to enjoy financial gain as this eclipse is happening in income house in their chart. While managing any family issues, they should try to stay rational and practical, to find out the best feasible solution.

something of blue clolour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, is advisable to enhance safety.

Aquarius Moon Sign

Aquarius Moon Sign People are advised to protect their physical health from any kind of injuries. They should restrict to themselves only, while thinking about the future. Struggle may appear, in any form, to show them the other side of the coin.

Giving anything of light blue colour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, is suggested to stay protected.

Pisces Moon Sign

Pisces Moon Sign Natives are going to experience mental tension in connection with kids, to feel restless from within. New projects or work proposals may get delayed to increase desperation for them. Giving something of yellow colour as ‘Daan’ to Panditji, with Dakshina, is suggested to minimise the adverse effects.

Read in Hindi 👇

चन्द्र ग्रहण का समय :-

ग्रहण प्रारम्भ घं.15:15 मि.
खग्रास प्रारम्भ घं.16:40 मि.
ग्रहण मध्य घं.16:49 मि.
खग्रास समाप्त घं.16:49 मि.
ग्रहण समाप्त घं.18:23 मि.
कुल पर्वकाल घं.18:23 मि.
चन्द्र मालिन्य शुरु घं.14-16मि.
चन्द्र मालिन्य समाप्त घं.19-21मि.

बुधवार 26 मई 2021 को बैशाख पूर्णिमा के दिन चन्द्रग्रहण है जो कि इस सम्बतसर का पहला ग्रहण है। यद्यपि ये ग्रहण समस्त भारत में नहीं है और प्रमुख रूप से पश्चिमी बंगाल, अरुणाचल प्रदेश, नागालैण्ड, पूर्वी उडीसा, मिजोरम, मणिपुर, आसाम, त्रिपुरा तथा मेघालय में थोडे समय के लिये देखा जा सकेगा।

इन स्थानों की खास बात ये होगी कि इन स्थानों पर चन्द्रमा ग्रस्त उदित होगा और चन्द्रोदय के कुछ ही समय बाद ग्रहण की समाप्ति हो जायेगी। ये खण्डग्रास के रूप में ही इन क्षेत्रों में दिखाई देगा और भारत के अन्य क्षेत्रों में ये नहीं दिखाई देगा।

भारत के अलावा दक्षिण पूर्वी एशिया(इण्डोनेशिया, जापान, सिंगापुर, बांग्लादेश, फ़िलीपीन्स, दक्षिणी कोरिया, बर्मा आदि में ये ग्रहण खग्रास रूप में दिखाई देगा। जबकि खण्डग्रास के रूप में उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका, प्रशान्त और हिन्द महासागर में देखाई देगा।

इस ग्रहण को लेकर ध्यान देने योग्यबात ये है कि इस ग्रहण का प्रभाव सम्पूर्ण भारत में नहीं होगा बल्कि जिन क्षेत्रों में ये आंशिक रूप में ही दिखाई दे रहा है उन क्षेत्रों में ही ग्रहन और ग्रहण के प्रभाव का बिचार किया जायेगा।

अत: इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों को स्नान, दान, जप, तप, अनुष्ठान आदि के महात्म्य का विचार करना चाहिये। अन्य क्षेत्रों में संस्कारादि शुभ कार्यों में ग्रहण क विचार नहीं किया जायेगा।

इस ग्रहण के सूतक के दौरान प्रभु भक्ति, ईष्ट पूजन, जप, तप, दान, तर्पण, हवन आदि कार्य किये जाने चाहिये।ग्रहण के दौरान किये गये इन कार्यों का फ़ल फ़ल अनन्त गुना होता है। ये ग्रहण अनुराधा और ज्येष्ठा नक्षत्र तथा वृश्चिक राशि में घटित होगाअत: इस राशि के जातकों को सावधानी रखने की जरूरत है।

साथ ही जिन राज्यों और देशों में इस ग्रहण का प्रभाव रहेगा वहां के लोगों को शस्त्रादि से हानि, रोग, आर्थिक हानि, भय, वर्षा की कमी और मंहगाई का प्रभाव देखा जा सकेगा।

इस ग्रहण का प्रभाव सभी राशियॊं पर देखा जा सकेगा। मुख्य तौर से वृष राशि, मिथुन राशि, कर्क राशि, तुला राशि, वृश्चिक राशि, धनु राशि, कुम्भ राशि, और मीन राशि के लिये यह ग्रहण शुभ नहीं है।

इस ग्रहण के प्रभाव से इन राशि के जातकों को मानसिक- शारीरिक चिन्ता और कष्ट, सन्तान पक्ष की तरफ़ से कष्ट, चोट भय, धन हानि, मान -सम्मान में कमी, तथा स्त्री पक्ष की तरफ़ से भी चिन्ता और कष्ट मिल सकता है।

जबकि मेष राशि, सिंह राशि, कन्या राशि, और मकर राशि के जातकों को सुख सौभगय की प्राप्ति, कार्यों की सिध्दि, धन, मान और सम्मान की प्राप्ति सम्भव है।

मेष

अपने पूर्व परिचितों से निजी मित्रता का शानदार प्रस्ताव मिल सकता है और इससे भविष्य में आपको आर्थिक लाभ मिलने की भी उम्मीद है। एक और जहां आपका आत्मविश्वास का स्तर बढेगा वहीं कल्पना और रचनात्मक शक्ति का भी विकास होगा।

हरे रंग की कोई भी वस्तु दान के रूप में पंडित जी को दक्षिणा के साथ देने से शुभ फल की प्राप्ति होती होगी।

वृष

इस राशि के जातकों को अपने साथी के साथ कठिनाइयों या साझेदारी में समस्या का अनुभव होने की संभावना है इससे मानसिक असंतुष्टि महसूस होगी। विशेष मामलों में अचानक लाभ या आर्थिक रूप से आकर्षक व्यापार प्रस्ताव आपके सामने आ सकते हैं।

पंडित जी को दान के रूप में दक्षिणा के साथ सफेद रंग की कोई वस्तु देना लाभकारी सिध्द होगा।

मिथुन

इस दौरान शारीरिक परेशानी का अनुभव होगा साथ ही दैनिक जीवन से जुडी कोई खबर भी आपको परेशान कर सकती है । आपको चाहिये कि इस माहौल से निकलने और तनाव को कम करने के लिये स्वयं को व्यस्त रखना समझदारी हो सकती है।

हरे रंग की कोई भी वस्तु दान के रूप में पंडितजी को दक्षिणा सहित देने से प्रतिकूल घटनाओं में कमी आ सकती है।

कर्क

कर्क राशि के जातकों को अपनी सामाजिक प्रतिष्ठा को लेकर सतर्क रहना चाहिए और किसी तीसरे व्यक्ति के कारण कष्ट भी मिल सकता है अत: छोटी-२ चीजों को नजरन्दाज न करें। 

घर में शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखने के लिए अपने प्रियजनों के साथ बातचीत करते समय नियंत्रण में रहें और क्रोध ना करें। इस आंशिक चंद्र ग्रहण के नकारात्मक प्रभाव को कम करने के लिए, दक्षिणा के साथ पंडितजी को सफेद रंग का दान दें।

सिंह

सिंह राशि के जातकों को व्यवसाय को लेकर सफलता का अनुभव हो सकता है या आपके सामने कोई लाभकारी अवसर आ सकता है।  पूर्व से चले आ रहे संघर्ष का परिणाम किसी कार्य के पूर्ण होने से कम हो सकता है।

ताँबे की धातु से बनी कोई भी वस्तु दान के रूप में पंडित जी को दक्षिणा के साथ देने से उचित स्थिति में मदद मिलेगी और मन को  शांति का आभास होगा।

कन्या

धन लाभ की उम्मीद के साथ कार्यों को पूर्ण होने की खुशी प्राप्त होगी। पूर्व में सामाजिक क्षेत्र में किये गये कार्यों से पद-  प्रतिष्ठा प्राप्त होने से आप अच्छा अनुभव करेंगे।

पंडित जी को दान के रूप में कुछ हरे रंग की चीज के साथ दक्षिणा देने से परिस्थितियों को और भी अनुकूल बनाने में मदद मिलेगी।

तुला

इस चंद्र ग्रहण के परिणामस्वरूप आपको आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ सकता है और आत्मविश्वास में भी गिरावट का अनुभव होगा। अचानक व्यवसाय से जुडी कोई समस्या सामने आ सकती है, जिससे आस पास के माहौल में बदलाव दिखेगा।

अप्रत्याशित या काल्पनिक भय आपके मन पर हावी हो सकता है। पंडितजी को दान के रूप में सफेद रंग की कोई भी वस्तु दक्षिणा के साथ देने से समस्याओं की तीव्रता कम होने की उम्मीद है।

वृश्चिक

शारीरिक समस्याओं के चलते मन परेशान रह सकता है, इसलिये सेहत पर ध्यान दें। पूर्व में किये गये ईमानदारी के  प्रयासों का अपेक्षित परिणाम न मिल पाने से आपका आत्मविश्वास कमजोर हो सकता है।

बच्चों की भलाई और सुरक्षा के लिए उचित देखभाल की जानी चाहिए। पंडितजी को दान के रूप में लाल रंग की कोई वस्तु दक्षिणा के साथ देने से प्रतिकूल प्रभाव कम हो सकता है।

धनु

आपको सलाह दी जाती है कि वे बड़े कार्यों को शुरू करते समय अपने दुश्मनों या प्रतिस्पर्धियों के प्रति सतर्क रहें वे काम में अडचन डाल सकते हैं जिसके फ़ल स्वरूप औसत से कम लाभ प्राप्त होगा।

इस ग्रहण के कारण ख़र्चों में वृद्धि हो सकती है। पीली धातु से बनी कोई भी वस्तु दान के रूप में पंडित जी को दक्षिणा सहित देने से स्थिति सामान्य होने और बेहतर महसूस करने में मदद मिलेगी।

मकर

आपको आर्थिक लाभ प्राप्त हो सकता है क्योंकि यह ग्रहण आपकी कुण्डली में आय भाव में हो रहा है। किसी भी पारिवारिक मुद्दे का प्रबंधन करते समय आपको तर्कसंगत और व्यावहारिक रहने का प्रयास करना चाहिए

ताकि सर्वोत्तम संभव समाधान खोजा जा सके।  पंडित जी को दान के रूप में नीले रंग की कोई वस्तु दक्षिणा के साथ देना सुरक्षा प्रदान कर सकता है।

कुंभ

आपको सलाह दी जाती है कि वे अपने शारीरिक स्वास्थ्य को नजरन्दाज ना करें । भविष्य के बारे में सोचेण और योजनाओं को अविश्वासी लोगों से साझा ना करें। बनते हुये कार्यों के बीच संघर्ष की स्थिति का भी सामना करना पड सकता है।

हल्के नीले रंग की कोई भी वस्तु दान के रूप में पंडितजी को दक्षिणा सहित देकर सुरक्षित रहने की सलाह दी जाती है।

मीन

मीन राशि के जातकों को बच्चों के संबंध में मानसिक तनाव का अनुभव होगा जिससे आप भीतर से बेचैनी महसूस करेंगे। अत: धैर्य से काम लें। नई परियोजनाओं या कार्य प्रस्तावों के देर से लागू होने से आप असहज महसूस करेंगे।

पंडित जी को दान के रूप में पीले रंग की कोई वस्तु दक्षिणा के साथ देने से प्रतिकूल प्रभाव कम करने में मदद मिलेगी।

For more, find us on Instagram.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CommentLuv badge
%d bloggers like this: