इस बार गोवर्धन पूजा पर बनेगा खास योग !

गोवर्धन पूजा सोमवार 28 अक्टूबर 2019

महत्वअधिकतर गोवर्धन पूजा का दिन दीवाली पूजा के अगले दिन पड़ता है ऐसा कहा जाता है कि इस दिन को भगवान श्री कृष्ण द्वारा इन्द्र देवता को पराजित किया था, इसी उपलक्ष्य में इस त्योहार को धूम धाम से मनाया जाता है। गोवर्धन पूजा को अन्नकूट पूजा भी कहा जाता है। इस दिन गेहूँ, चावल जैसे अनाज, बेसन से बनी कढ़ी और पत्ते वाली सब्जियों से बने भोजन को पकाया जाता है और भगवान कृष्ण को अर्पित किया जाता है।

पूजा विधि-  गोबर्धन पूजा के दिन पालतू पशु जैसे गाय-बैल आदि पशुओं को स्नान कराके उनके सींन पर तेल आदि लगाया जाता है । धूप-दीप, चंदन तथा फूल माला पहनाई जाती और उनका पूजन किया जाता है। खास अनाज को पकाकर उन्हे खिलाया जाता है और साथ में गौमाता को मिठाई भी खिलाते हैं। कई जगह गोबर से गोवर्धन की आकृति बनाकर उसके समीप भगवान श्री कृष्ण की फ़ोटो रखकर गाय तथा ग्वाल-बालों की रोली, मौली, धूप, दीप, चन्दन, चावल, फूल आदि से पूजन किया जाता है । अन्त में आरती उतारते हैं और फ़िर परिक्रमा की जाती है।

पूजा मुहूर्त: दोपहर 03:26 मिनिट से शाम 05:40 मिनिट तक अवधि – 02 घण्टे 14 मिनट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Book Navratri Puja from the comfort of your homeBook Now